Please wait....
Yogendra Sharma
अपनी सामर्थ्य भी तो पहचानो मोदी जी ...
देश के दूरदराज के क्षेत्रों में लोगों से सम्पर्क साधने के प्रयास के तहत प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 3 अक्टूबर, 2014 को पहली बार रेडियो के माध्यम से संबोधित कर देशवासियों को निराशा त्यागने और अपनी सामथ्र्य क्षमता और कौशल का उपयोग देश की समृद्धि के लिए करने की अपील कर एक सराहनीय कदम उठाया है... हम श्री मोदी को इसके लिए तहेदिल से धन्यवाद देते हैं... रेडिया पर देश के लोगों को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने भेड़ों के बीच पले-बढ़े शेर के एक बच्चे की कहानी सुनाई... उस कहानी का जिक्र यहां करना समीचीन होगा... संक्षेप में कहानी कुछ इस प्रकार थी- ''''एक बार शेरनी अपने दो बच्चों के साथ जंगल में घूम रही थी, कि उसकी नजर एक भेड़ों के झुंड पर पड़ी, शिकार करने के इरादे से जब उसने भेड़ों की तरफ दौड़ लगाई तो उसका एक बच्चा उसके साथ-साथ दौड़ पड़ा किन्तु दूसरा बच्चा पीछे छूट गया... दूसरा बच्चा बिछुड कर भेड़ों के दूसरे झुंड में जा मिला...वह भेड़ों के साथ पलकर बड़ा होने लगा, उसका रहन-सहन, खान-पान, बोली-चाली सब कुछ भेड़ों की तरह हो गई...कुछ वर्षों बाद जब पहले शेर के बच्चे ने दूसरे बच्चे को भेड़ों के बीच खेलते देखा तो उसे आश्चर्य हुआ कि एक शेर भेड़ों के साथ कैसे...उसने उस शेर को कहा कि तू शेर है फिर भेड़ों के साथ कैसे...उस शेर ने कहा मैं भेड़ हूँ...तब पहला शेर दूसरे शेर को एक कुए के पास ले कर गया और उसे कुए के पानी में अपनी सूरत देखने को कहा...दूसरे शेर ने जब पानी में अपनी सूरत देखी तो पहले शेर ने उसे बताया कि देख मेरी और तेरी सूरत एक जैसी है, जब मैं शेर हूँ तो तू भी शेर हुआ ना... दूसरे शेर को अपनी असलियत का अहसास हुआ और वह जोर दहाड़ा...'''' यह कहानी कह कर प्रधानमंत्री ने देशवासियों को अपनी सामथ्र्य पहचानने की जरूरत बताई... हमारा यहां सिर्फ इतना ही कहना है कि जब हमारा पड़ोसी देश चीन भारत को चारों ओर से घेर रहा है ... पिछले दिनों चीन के राष्ट्रपति जिनपिंग और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के बीच दिल्ली में हो रही बातचीत के दौरान चीन लद्दाख में अवैध घुसपैठ करता रहा... जिनपिंग चीन लौटकर अपने उच्चाधिकारियों से क्षेत्रीय युद्ध के लिए तैयार रहने की बात करते रहे... भारत का पड़ोसी देश पाकिस्तान लगातार सीमा पर संघर्ष विराम का उल्लंघन कर रहा है... सीमा के जवानों के साथ-साथ जम्मू-कश्मीर मे ंरहने वाले आम नागरिक मारे जा रहे हैं... पाकिस्तान के मंत्री कश्मीर को एक कानूनी मुद्दा बताकर वहां जनमत संग्रह कराने का राग अलाप रहे हैं... सीमा पर पाकिस्तानी सेना गोले बरसा रही है... फिर भी हमारे प्रधानमंत्री ''भेड़'' जैसा व्यवहार क्यों कर रहे हैं... क्या हमें नरेन्द्र मोदी को कुए के पानी में उनकी सूरत दिखानी पड़ेगी...?
Textile News
ब्राण्डेड गारमेण्ट निर्माताओं से परेश.......
मुंबई/ मिलें ऊँचे भाव पाने की कोशिश में गारमेण्ट ब्राण्डों को सीधे फैब्रिक्स की आपूर्ति करने लगी थी। इससे थोक व्यापारियों को एक तरह से किनारे कर दिया गया था। रेडीमेड गारमेण्ट के ब्राण्डेड निर्माताओं की ओर से 90 दिनों से पहले भुगतान मिलने की संभावना नहीं रहती है। इतना ही नहीं, यदि फैब्रिक्स की डिलिवरी देने में देर होती है, तब ऑर्डर भी रद्द हो जाता है। जबकि थोक कपड़ा व्यापारी लंबा स्टॉक रखता है और मिलों के साथ बेहतर संबंध बनाये रखने का हरसंभव प्रयास करता है। अब गारमेण्ट ब्राण्ड वालों से परेशान होकर मिलों ने फिर से थोक व्यापरियों की तरफ रूख किया है। इससे रेडीमेड गारमेण्ट को फैब्रिक्स आपूर्ति करने वाले व्यापारियों क......
Buy Leads
Sell Leads
Rates
Textile e-paper
Business Directory
Trade Fair
18/11/2014 To 19/11/2014
10/12/2014 To 13/12/2014
02/01/2015 To 05/01/2015
Events
''सियाराम'' की कॉन्फ्रेंसेज में लगा व्यापारिय....
अमृतसर/ सियाराम के पंजाब, हिमाचल प्रदेश एवं जम्मू के अधिकृत एजेंट मैसर्स जय टेक्सटाइल की अगुवाई में पिछले दिनों अलग-अलग डीलर्स के तत्वावधान में सेल्स कॉन्फ्रेंसेज आयोजित हुई। जिनमें व्यापारियों ने सियाराम के प्रति भरोसा कायम रखा और जमकर बुकिंग कराई। 

प्रथम कॉन्फ्रेन्स - कम्पनी की प्रथम कॉन्फ्रेंस जय टेक्सटाइल के सानिध्य में अमृतसर में आयोजित की गयी। जो स्थानीय डीलर आर. कुमार टेक्सटाइल, जे.के. सुनील कुमार अंकुर टेक्सटाइल, रामप्रसाद, विजयकुमार एवं एस. के. शेर सिंह के संयुक्त तत्वावधान में सम्पन्न हुई। पिछले दिनों आयोजित इन सामुहिक कॉन्फ्रेंसेस में व्यापारियों का जैसे जमघट सा लग गया। 

द्वितीय कॉन्फ्रेंस -सियाराम की दूसरी कॉन्फ्रेंस सी. राम टेक्सटाइल एजेंसी के तत्वावधान में जालंधर सिटी में पिछले दिनों सम्पन्न हुई। दो दिवसीय इस कॉन्फ्रेंस में रिटेल व्यापारियों ने बढ़ चढ़ कर हिस्सा लिया। सी.राम टेक्सटाइल एजेंसी के संचालक श्री रितेश सोनी ने बताया कि कॉन्फ्रेंस में सियाराम सूटिंग-शर्टिंग, मिस्टेयर, विक्ट्री शर्टिंग, जेनेसिस आदि उत्पादों की अच्छी बुकिंग हुई। उन्होंने कहा कि हम विगत 10 वर्षों से कॉन्फ्रेंस कराते आ रहे हैं परन्तु इस बार हमने कॉन्फ्रेंस का टाइम दो दिन का रखा एवं फैशन शो का आयोजन भी किया गया। व्यापारियों ने भी आयोजन का आनंद उठाया और रिकोर्ड तोड़ बुकिंग दे कर 'सियाराम' के प्रति विश्वास दर्शाया। 

तृतीय, चतुर्थ एवं पंचम कॉन्फ्रेंस - तृतीय कॉन्फ्रेंस पिछले दिनों चावला टेक्सटाइल, पटियाला के तत्वावधान में होटल अजूबा इंटरनेशनल पटियाला एवं चतुर्थ कॉन्फ्रेंस एस. सुरिन्दरपाल सिंह एण्ड सन्स, लुधियाना के तत्वावधान में होटल फ्रेंड रिजेंसी, लुधियाना में सम्पन्न हुई। पंचम कॉन्फ्रेंस गत 7 सितंबर को बठिण्डा के डीलर मैसर्स गोयल रुबिया हाउस के तत्वावधान में आयोजित हुई जो जबरदस्त सफल रही। कॉन्फ्रेंस में जेनेसिस, मोरेटी, विक्ट्री शर्टिंग, रॉयल लिनन में खूब बुकिंग ऑर्डर्स मिले। 

षष्ठम कॉन्फ्रेंस - गत 14 सितंबर को सुभाष एण्ड सन्स, लुधियाना के तत्वावधान से सम्पन्न कॉन्फ्रेंस में भी व्यापारियों ने जमकर खरीदी की। आगामी सीजन की तैयारी के तहत व्यापारियों ने कम्पनी की लेटेस्ट रेंज को अच्छा रिस्पोंस दिया। 

निष्कर्ष स्वरुप सभी कॉन्फ्रेंस के बारे में श्री जतिन्दर मेहरा एवं श्री गौरव मल्होत्रा ने बताया कि कॉन्फ्रेंस में सियाराम के इनोवेशन को खूब सराहना मिली। इसकी नई रेंज, चेस्टवुड, केष्टर फील्ड, अन्नेविया सहित ऑल टाइम हिट रेंज लजेरो, अरमेनिया एंटीलिया, अलेण्टा, ज्यूरी आदि में नये डिजाइन्स को व्यापारियों ने खूब पसंद किया। साथ ही कम्पनी के लेटेस्ट प्रॉडक्ट कुर्ता-पायजामा एवं मोडीफाई जेकैट सभी कॉन्फ्रेंसेज में आकर्षण का केन्द्र रहे। 

इसके अलावा विंटर कलेक्शन में 3600 शर्टिंग एवं विक्ट्री शर्टिंग की नई रेंज भी काफी पसंद की गयी।सभी कॉन्फ्रेंस में मिल के अधिकारियों द्वारा व्यापारियों से सुझाव मांगे गये। प्रॉडक्ट से संबंधित चर्चा करने के और भी कई पहलूओं पर व्यापारियों से राय शुमारी की गयी। 

इन सभी कॉन्फ्रेंस में मिल की मार्केटिंग टीम जोनल मैनेजर श्री विश्वजीत झा, एरिया सेल्स मैनेजर श्री नीरज काबरा एवं श्री राकेश प्रजापति पूरी मुस्तेदी के साथ उपस्थित रहे।
Articles
भीलवाड़ा/ मानव जब भगवान से विमुख होकर संसार से स्वास्थ्य, शक्ति, आनन्द, ज्ञान एवं प्रेम मांगने लगता है एवं शक्ति के लिए भोजन, स्वास्थ्य के लिए दवा, आन....
अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति जार्ज बुश जुनियर द्वारा अफगानिस्तान और इराक में छेड़े गए युद्धों का विरोध करते हुए अपनी सियासी हैसियत बनाने वाले बराक ओबा....
Interviews
भागीरथ जालान
भागीरथ जालान
मैनेजिंग डायरेक्टर  - जालांस रिटेल
सरकार को अतिशीघ्र ''जीएसटी'' लागू कर देना चाहिए - श्री भागीरथ जालान 

जालान्स रिटेल के मैनेजिंग डायरेक्टर श्री भागीरथ जालान ने यूके की कार्डिफ यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन करने के बाद लंदन स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स से लीडरशिप का कोर्स किया। पढ़ाई समाप्त होने के पश्चात उन्होंने फ्यूचर ग्रुप में एक वर्ष तक सीनियर एक्जिक्यूटिव के पद पर श्री दामोदर मल के निर्देशन में कार्य किया। 

उन्होंने महान ''रिटेल गुरू'' श्री एस.सी. मिश्रा से रिटेलिंग के गुर सीखे। कुछ कार्य अनुभव प्राप्त करने के बाद उन्होंने फैब्रिक एवं गारमेण्ट्स की होलसेलिंग व रिटेलिंग का पारिवारिक व्यवसाय जॉइन कर लिया। यहां उन्होंने रिटेल का चार्ज सम्हालते हुए कई नए स्टोर्स खोले एवं तत्कालीन स्पेशलिटी स्टोर्स को डिपार्टमेण्ट स्टोर्स में तब्दील किया। 

हाल ही जुलाई, 2014 में उन्होंने सुपर मार्केट (एफएमसीजी एवं ग्रॉसरी उत्पादों की संपूर्ण रेंज) के नए सेग्मेण्ट में प्रवेश किया, जिसे सफल शुरूआत मिली एवं जालान्स की रेंज में एक अध्याय और जुड़ गया। वर्तमान में वे ग्रुप के रिटेल आउटलेट की सफलतापूर्वक देखरेख कर रहे हैं। 

पिछले दिनों उनसे ''टेक्सटाइल वर्ल्ड'' ने उनके व्यवसाय के साथ-साथ वस्त्र जगत पर विस्तृत चर्चा की। प्रस्तुत है चर्चा के प्रमुख अंश :-

प्रश्न - फिलहाल बाजार का हाल क्या है ? 
श्री भागीरथ जालान - फिलहाल बाजार में कुछ जगहों पर साड़ी, सूटिंग्स, गारमेण्ट की सेल है परंतु छोटे टेक्सटाइल शोप्स की सेल लगभग स्थिर बनी हुई है। श्राद्ध पक्ष चलने से फिलहाल यही स्थिति बनी रहेगी। 

प्रश्न - आपके व्यवसाय में विभिन्न सेग्मेण्ट यथा साड़ी, सूटिंग आदि का क्या अनुपात है तथा यू.एस.पी. क्या है। 
श्री भागीरथ जालान - हमारे व्यवसाय में साड़ी का व्यवसाय लगभग 25 प्रतिशत, सूटिंग व शर्टिंग 10 प्रतिशत, रेडिमेड गारमेण्ट्स 30 प्रतिशत, फर्निशिंग फैब्रिक्स 30 प्रतिशत व अन्य लगभग 5 प्रतिशत है। हमारी स्क्क ग्राहक को सर्वोत्तम सेवा व बाजार से कम से कम विक्रय मूल्य देना है। ग्राहकों से हमारे सम्बंध लंबे तथा अनुकूल हैं। 

प्रश्न - घरेलू व अंतरराष्ट्रीय बाजार में ग्राहकों का वस्त्रों के प्रति क्या रुझान है? 
श्री भागीरथ जालान - ग्राहकों की आय बढ़ रही है। भारत में मीडिल क्लास बढ़ रहा है, ब्राण्डेड रेडीमेड गारमेण्ट की सेल वर्ष दर वर्ष बढ़ रही है। उदाहरण के तौर पर देखे-वर्ष 2007-08 में ब्राण्डेड रेडीमेड गारमेण्ट में सेल लगभग 5000 करोड़ थी जो आज लगभग बढ़कर 20,000 करोड़ हो गयी है। 

प्रश्न - भारतीय वस्त्र उद्योग की वर्तमान तथा भविष्य में घरेलू तथा विदेशी बाजार में क्या स्थिति रहेगी ? 
श्री भागीरथ जालान - जनसंख्या की वृद्धि होने से कपड़े की मांग लगातार बढ़ रही है। आय वृद्धि भी लगातार होने से ग्राहक की क्रय क्षमता भी बढ़ रही है। भारत शुरु से ही वस्त्र उद्योगों का केन्द्र रहा है जिसकी वजह से यहां की वस्त्र इकाइयाँ विदेशों में अच्छा व्यापार कर रही है तथा भविष्य में भी करेगी। 

प्रश्न - रिटेलर के तौर पर एक व्यापारी को भारत में किन किन समस्याओं का सामना करना पड़ता है ? 
श्री भागीरथ जालान - पिछले 5-6 वर्षों से लेबर कोस्ट, एम्पलॉय कोस्ट लगभग 50 से 60 प्रतिशत तक बढ़ गयी है। रिटेलर के सामने बढ़ते खर्चे तथा किराये में वृद्धि, बिजली बिल वृद्धि आदि अन्य समस्याएं होने के साथ-साथ स्टॉक को व्यवस्थित रखने की चुनौती भी है। इन्वेंटरी कोस्ट लगातार बढ़ रही है। 

प्रश्न - व्यापार में अन्य क्या समस्याएं हंै, विशेषकर सरकार की ओर से ? 
श्री भागीरथ जालान - सरकार को अतिशीघ्र जी.एस.टी. लागू कर देना चाहिए। फिलहाल अलग-अलग राज्य में अलग-अलग ''वेट'' होने से इंटर स्टेट प्रतियोगिता हो रही है जो अनावश्यक है। एक व्यापारी के तौर पर मैं मानता हँू कि वस्त्र व्यापार में बड़ी वृद्धि नहीं हुई है। हर दिन नये लोग व्यापार में आ रहे हैं तो कुछेक पुराने व्यापारी व्यापारिक स्पर्धा से बाहर भी हो रहे हैं। 

प्रश्न - भविष्य में आपकी क्या योजनाएं है। 
श्री भागीरथ जालान - हमारी योजना साधारण विस्तार की है, जिसके तहत लगभग 2-3 डिपार्टमेण्टल स्टोर्स खोले जायेंगे तथा व्यापार में कुछ नये फार्मेट जैसे कि फूड, गोर्सरी व एफएमसीजी आदि खोले जायेंगे। 

प्रश्न - सरकार की ऐसी कोई नीति जिससे आप को फायदा पहुँचा हो ? 
श्री भागीरथ जालान - वर्तमान सरकार द्वारा मल्टी ब्राण्ड में एफ.डी.आई. लागू नहीं करने से हमें फायदा होगा।